India’s first Hindi movie. , Incredible India, which launched the calendar of every artist. The producer of this film has done a unique way of promoting all of his artists. Very few are such filmmakers, whose purpose is not to make money from films, but to make sense of patriotism among the people through the film. It is to create a feeling among the people that the responsibility of making the beautiful country in which you are living is yours, only then we will call the country an incredible India, which was also at that time when the country was not divided. After partition, the country was split into two pieces, which came in the form of India and Pakistan. India is still incredible where there are people of many religions and where good souls struggle with the evil spirits. These evil spirits repeatedly attack the country. Live-ji could not do anything, now die trying to distort India’s picture. These evil spirits remain in the danger of spreading hatred among the two countries.

Many terrorist attacks on the country by the neighboring country were also a game of such evil spirits. In total, the film ‘Incredible India’ is a mutual battle between good and evil spirits of two countries, in which many innocent people are killed. For the first time, a film has shown mutual war between the two countries and the message is also being given through it. Produced under the banner of RR Films, Renuka Singh, Rajput and Raja Rajput Rajput will have five heroes, five heroines and five villains in this film, which is a wonderful case of cinematic history. Rajpal Yadav, Mushtaq Khan, Ali Khan, Ramesh Goyal, Basheer Khan, Dilip Kedar etc. Many of the senior and prominent actors, Vishal Desai, Prashant Pundir, Tanushree Mukherjee, Vijay Singh Patel, Kapil Solanki, Shiv Pujan Tiwari, Ramcharan Patel, Vinod Patel, Nagendra Kumar Patel, Shweta Sinha, Gulab Patel, Rajkumari Saket, Ajit Aryan, Zakir Khan, Anil Anuj, Neelam Arora, Yogesh Yadav, Sachin Choure , Neelu Sharma, Dharmedar Bachchan, Shobha Singh Rajput, Sonia Kamra, Devendra Dixit, Aurangzeb Chippa, Manish Kumar, Khushbu Shukla, Purvi Shirke, Ravishakant, Pooja Pandya, Raju Harsana, Mithlesh Kumar, natak Thakkar, Sakshi Tiwari, Sunny Tiwari, Prashant Magadhar, A Raza, Deepali Soni, Ranveer Waghwani, Mahesh Bhatekar, Ranjit Das, Jagdish Patil, Shivraj Alam, Ritesh Rathore, Niraj Rathok, Mamta Pathak, Seema Sharma, Awadhesh Verma, Sunil Desai, Life It was not easy to get out of 66 artists together with Vadra, Manoj Gurjar, Mohammad Islauddin, Vaishali Ghosh, Tarabje Khan, Bandu Khanna, Geeta Sharma, Tapan Arora, Tanuja Khandelwal, Ramu Yadav, Deepak Kumar, but director Raja Raj Singh Rajput It has been shown by the directorial skill that has decided that 25 percent of the earnings from the film are for the country’s martyred soldiers and the affected farmers. Aron will, who have already lost their lives due to financial constraints. On this occasion, all film stars and guests and all friends and media have given Dhanbad with heart and all are the writers of the film Mohammed Atik. The songs of Khalid bhati and  Mohammad atik  are decorated with music by Asif Zakir. Executive Producer is Awadhesh Sharma. Shadow is Hemant Patil and Ex Director is Riyaz Sultan P. R. Studio Parvez Alam, P. R.O. filmy jhalak Raja Ram Singh.

 

आर आर फिल्म प्रजेंट ‘इनक्रेडिबल इंडिया’ निर्माता रेनुका राज राजपूत सिंह निर्देशक राज सिंह राजपूत,

भारत की पहली हिंदी फिल्म है। ,इनक्रेडिबल इंडिया, जिसका हर कलाकार का  कलेंडर लांच किया। इस फिल्म के निर्माता ने अपने सारे कलाकारों का प्रमोशन का अनोखा तरीका किया बहुत कम ऐसे फिल्मकार हैं, जिनका मकसद फिल्मों से पैसा कमाना नहीं, बल्कि फिल्म के जरिए लोगों में देशभक्ति की भावना जगाना है। लोगों में यह अहसास पैदा करना है कि जिस देश में तुम रह रहे हो, उसको सुंदर बनाने का दायित्व भी तुम्हारा है, तभी देश को हम अतुल्य भारत कहेंगे, जो उस समय भी था, जब देश का विभाजन नहीं हुआ था। विभाजन के बाद देश दो टुकड़ों में बंट गया, जो भारत और पाकिस्तान के रूप में सामने आया। भारत आज भी अतुल्य है जहां कई धर्मों के लोग रहते हैं और जहां अच्छी आत्माएं बुरी आत्माओं के साथ संघर्ष करती हैं। ये बुरी आत्माएं देश पर बार—बार हमला करती हैं। जीते—जी तो ये कुछ कर नहीं पाई, अब मरकर भारत की तस्वीर बिगाड़ने की कोशिश करती हैं। ये बुरी आत्माएं दो देशों के बीच नफरत की आग फैलाने की ताक में रहती हैं।

देश पर पड़ौसी मुल्क द्वारा किए गए कई आतंकी हमले भी उन्हीं बुरी आत्माओं का खेल था। कुल मिलाकर फिल्म ‘इनक्रेडिबल इंडिया’ दो देशों की अच्छी और बुरी आत्माओं की आपसी लड़ाई है, जिसमें कई निर्दोष लोग मारे जाते हैं। पहली बार किसी फिल्म में दो देशों की आत्माओं के बीच आपसी जंग दिखाई गई है और उसके जरिए मैसेज भी दिया जा रहा है। आर आर फिल्म्स के बैनर तले बनी निर्माता रेणिुका सिंह राजपूत और राजा सिंह राजपूत की इस फिल्म में पांच हीरो, पांच हीरोइन और पांच खलनायक नजऱ आएंगे, जो सिनेमाई इतिहास का अद्भुत मामला है। राजपाल यादव, मुश्ताक खान, अली खान, रमेश गोयल, बशीर खान, दिलीप केदार आदि कई वरिष्ठ व कद्दावर अभिनेताओं ने सजी इस फिल्म में विशाल देसाई, प्रशांत पुंडीर, तनुश्री मुखर्जी, विजय सिंह पटेल, कपिल सोलंकी, शिवपूजन तिवारी, रामचरण पटेल, विनोद पटेल, नागेन्द्र कुमार पटेल, श्वेता सिन्हा, गुलाब पटेल, राजकुमारी साकेत, अजीत आर्यन, जाकिर खान, अनिल अनुज, नीलम अरोड़ा, योगेश यादव, सचिन चौर, नीलू शर्मा, धर्मेेंद्र बच्चन, शोभा सिंह राजपूत, सोनिया कामरा, देवेंद्र दीक्षित, औरंगजेब चिप्पा, मनीष कुमार, खुशबू शुक्ला, पूर्वी शिर्के, रविशकांत, पूजा पांड्या, राजू हरसाना, मिथलेश कुमार, नैतिक ठक्कर, साक्षी तिवारी, सन्नी तिवारी, प्रशांत जादूगर, ऐ के रजा,दीपाली सोनी, रणवीर वाघवाणी, महेश भटेकर , रंजीत दास, जगदीश पाटिल, शिवराज आलम, रितेश राठौर, निरज राठौक, ममता पाठक, सीमा शर्मा, अवधेश वर्मा, सुनील देसाई, जीवन वडेरा, मनोज गुर्जर, मौहम्मद इस्लाउद्दीन, वैशाली घोष, तरबेज खान, बंधु खन्ना, गीता शर्मा,  तपन अरोड़ा, तनुज खंडेलवाल, रामू यादव, दीपक कुमार आदि करीब 66 कलाकारों से एक साथ निकलवा पाना आसान नहीं था लेकिन  निर्देशक राजा सिंह राजपूत ने अपने निर्देशकीय कौशल से यह कर दिखाया, जिन्होंने तय किया है कि इस फिल्म से होने वाली कमाई का 25 प्रतिशत हिस्सा वह देश के लिए शहीद हो चुके जवानों व पीडि़त किसान परिवारों को देंगे, जो आर्थिक तंगी के चलते अपनी जान दे चुके हैं। इसी मौके पर आये सभी फिल्म कलाकार ओर मेहमानों और सभी दोस्तों वा मीडिया को दिल से धनबाद दिया  सभी को इस फिल्म के लेखक हैं मोहम्मद अतीक। खालिद भाटी के गीतों को संगीत से सजाया है आसिफ जाकिर ने। कार्यकारी निर्माता हैं अवधेश शर्मा। छायांकन हेमंत पाटिल का है और एक् शन डायरेक्टर हैं रियाज़ सुल्तान। पी आर स्टूडियो परवेज आलम, पी आर ओ फिल्मी झलक राजा राम सिंह.

Print Friendly, PDF & Email