मानव सोहल की कॉमेडी फिल्म ” पीके लेले – ए सेल्स मैन ” का मुम्बई में शानदार प्रीमियर 

इस सप्ताह रिलीज़ होने वाली निर्देशक मानव सोहल की कॉमेडी फिल्म “पीके लेले – ए सेल्स मैन” का शानदार प्रीमियर मुम्बई के अंधेरी वेस्ट में स्थित फन रिपब्लिक थिएटर में किया गया। जहां इस फ़िल्म के निर्माता निर्देशक और कलाकारों के साथ साथ बॉलीवुड की कई हस्तियां भी मेहमान के रूप में मौजूद थीं। यहां गेस्ट के तौर पर सुनील पाल, राकेश सबरवाल, हॅरी वर्मा इत्यादि उपस्थित थे। यहां मीडिया के लोग और फ़िल्म क्रिटिक ने भी फ़िल्म देखी और इसे एन्जॉय किया। प्रीमियर के अवसर पर इस फ़िल्म के लेखक, निर्दशक और मुख्य अभिनेता मानव सोहल, प्रोड्यूसर शैलेश गोसरानी, अभिनेत्री श्रावणी गोस्वामी, संगीतकार नायाब अली, बैकग्राउण्ड म्यूजिक कम्पोज़र राजा अली और फिल्म के प्रचारक रमाकांत मुंडे मौजूद थे।

आपको बता दें कि 14 दिसम्बर को रिलीज हुई निर्देशक मानव सोहल की इस कॉमेडी फिल्म में ब्रजेन्द्र काला की भी अहम भूमिका है, जो आमिर ख़ान की पीके में भी थे।

    

इस फ़िल्म में मानव सोहल और बृजेन्द्र काला ने पीके और लेले नाम के ऐसे सेल्समैन का रोल किया है जो लड़कियों के अंडर गारमेंट्स बेचते हैं। फ़िल्म में श्रावणी गोस्वामी मिसेज मोनिका मार्लो के रूप में हैं, जो इस फ़िल्म की हिरोइन की माँ के रोल में हैं। जबकि वैष्णवी धनराज मिस मेरी मार्लो के किरदार में हैं।उल्लेखनीय है कि श्रावणी गोस्वामी फ़िल्म द जर्नी ऑफ कर्मा में पूनम पांडेय की माँ के रोल में भी दिखी थीं।

मुम्बई टाकीज़ कंपनी की हिंदी फिल्म पीके लेले – ए सेल्स मैन में बृजेंद्र काला, मानव सोहल, श्रावणी गोस्वामी, वैष्णवी धनराज, फाल्गुनी रजनी, जतिन मुखी, जय शंकर त्रिपाठी और साहिबा खुराना ने काम किया है। इस फ़िल्म के लेखक और निर्दशक मानव सोहल हैं। इसके प्रोड्यूसर शैलेश गोसरानी और मानव सोहल हैं। जबकि इसके संगीतकार और गायक नायाब अली हैं। फ़िल्म का बैकग्राउण्ड म्यूजिक राजा अली ने दिया है।

इस फ़िल्म में मानव सोहल पीके का रोल कर रहे है जबकि बृजेंद्र काला इसमे लेले की भूमिका में हैं। फ़िल्म की हिरोइन वैष्णवी धनराज टीवी पर मधुबाला जैसे कई शोज़ कर चुकी है, उन्होंने वोडका डायरीज़ में भी काम किया था।

फिल्म और टीवी धारावाहिकों में वर्षों से अभिनय करते आ रहे मानव ने इस फ़िल्म के ज़रिए फ़िल्म निर्देशन के क्षेत्र में कदम रखा है। उन्होंने अपने वर्षों के अनुभव को इस फ़िल्म में इस्तेमाल किया है। यह फ़िल्म दर्शको को खूब हंसाने में सफल हो रही है।

छायाकार : रमाकांत मुंडे 

Print Friendly, PDF & Email