World Human Rights Day 2018’s grand celebration was held in Mumbai. The Programme Of National Convention On Human Rights & Social Justice  was  successfully organised by Progressive  Foundation Of Human Right. The seminar was well attended by many bollywood celebrities and politicians who came together to grace this occasion. Many invitees gave formal speech and suggested their fundamental rights. Guest Speakers’ opinion was highly appreciated by all the invitees.

Progressive Foundation Of Human Rights is the organisation working in India for last several years under the leadership of  President Shri Rakesh Pandey, who also made the inaugural speech on this popular occasion. He is the brain and bank behind this powerful organisation which is working non-stop for our country.

  

The prestigious guest who honoured the occasion with their presence include – Shri Amarjeet Mishra – General Secretary, Bharatiya Janata Party, Mumbai; Shri Mukesh Pandey – National General Secretary & Spokesperson, Lok Janshakti Party (Kisan Cell) & Delhi, Incharge Maharashtra and Gujarat; Dr. H N Sharma – Political Advisor to former Prime Minister of India; Dr. Azad Singh Gautam – Member, Bharatiya Chikitsa Parishad, Govt. Of UP; Shri Arun Kumar Singh Munna – Former President, UP Congress and Ex. Minister; Shri Vijay Solanki – National Member, SP Morcha, Bhartiya Janata Party; Dr. Yogesh Dube – Chairman, Bhartiya Vikas Sansthan (Rashtrapati Puriskrit); Hon’ble Justice Shri R N Mishra – Chairman, National Industrial Tribunal (Kolkata and Maharashtra); Shri Rajan Savla Ghate – National RTI Awardee; Shri Anil Dhawan – Renowned Film Actor; Shri Sudip Pandey – Bhojpuri & Hindi Film Star.

Others prestigious guest include  Ali Khan – Film Actor, President PFHR, Mumbai;  Pankaj Jairath – Co-ordinator, Maharashtra;  Lalji Yadav – In-Charge, Mumbai;  Naseem Khan – President, Mulund to Chembur;  Darshan Singh – President, Malad; Rajesh Mittal – Co-ordinator, Mumbai; Umar Khan – Org. Secy, Mumbai; Jigna Seth – Associate Co-ordinator, Mumbai; Ashwin Thakkar – Associate Co-ordinator, Mumbai; Gopal Raghav – Co-ordinator, Mumbai.

विश्व मानवाधिकार दिवस- १० दिसम्बर २०१९ – द कंट्री क्लब, अंधेरी (प), मुंबई

नेशनल कन्वेंशन ऑन हयूमेन राइट्स एन्ड सोशल जस्टिस

विश्व मानव अधिकार दिवस के उपलक्ष्य मे एक सेमिनार १० दिसम्बर २०१८ को द कंट्री क्लब अंधेरी (प.) मुंबई में आयोजित हुआ कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रोगेसिव फाउंडेशन ऑफ हुमन राइट के अध्यक्ष श्री राकेश पांडेय द्वारा की गई।

सेमिनार में अथितियो में बडे बडे मंत्री अभिनेता समाज सेवी संस्था के अध्यक्ष कार्यकर्ता तथा मीडिया के कार्यकर्ता उपस्थित थे और ये सब माननीय हस्तियो ने वर्लड हुमन राइटस एंड सोशल जस्टिस विश्व मानव अधिकारी दिवस पर अपने अपने विचार व्यक्त किये।

आमन्त्रित मेहमानो मे बालीवुड से फिल्म स्टार अनिल घवन, अली खान फिल्म स्टार सुदीप पांडे, श्री अमरजीत मिश्रा – जनरल सक्रेटरी बी.जे.पी मुंबई, श्री मुकेश पांडे – नेशनल जनरल सेक्रेटरी एंव स्पोक परसन लोग जन शक्ति पार्टी (किसानसैल),  श्री डा. एच. एन. शर्मा, श्री डा. आजाद सिंह गोतम, श्री अरुण कुमार सिंह मुन्ना, श्री विजय सोलंकी,  श्री डा. योगेश दुबे, आनरेबल जस्टिस –  श्री आर एन मिश्रा, श्री राजन सावला घटे, सुश्री बी पुंडिर और प्रोगेसिव फाउंडेशन आफ हुमन राईटस के मुख्य कार्यकता श्री पंकज जयराज, श्री लालजी यादव, श्री नसीम खान, श्री दर्शन सिह, श्री राजेश मितल, श्री उमर खान, मिस जिगना सेठ,  श्री अशवीन टक्कर, श्री गोपाल राघव, एंव . एस. खुस्वा.

प्रोग्रेसिव फाउंडेशन ऑफ हयूमेन राइट्स मौलिक अधिकार को लेकर भारतीय संविधान में वर्णित प्रावधानों के तहत समाज के दबे कुचले पीड़ितों  शोषितों और आर्थिक दृष्टि से विपन्न लोगों का जीवन स्तर सुधारने तथा उन के मौलिक अधिकारों की हिफाजत के लिए हर संभव प्रयास करती है।  संविधान में उल्लिखित मौलिक अधिकारों से देश की अधिकांश आबादी अनजान हैं परिणाम स्वरूप उनके अधिकारों का खुलेआम हनन होता है और सामाजिक एवं आर्थिक दृष्टि से पिछड़े लोग इसका विरोध तक नहीं करपाते हैं। प्रोग्रेसिव फाउंडेशन ऑफ हयूमेन राइट्स इस तथ्य को दृष्टिगत रखकर ऐसे लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए जन-जागरूकता अभियान चलाती है।

सामाजिक न्याय के लिए हम  शुरुआत से ही संघर्ष करते आ रहे है। भय, भूख, भ्रष्टाचार एवं समतामूलक समाज के निर्माण का संकल्प लेकर प्रोग्रेसिव फाउंडेशन ऑफ ह्यूमेन राइट्स शहरी नागरिकों एवं ग्रामीणों को भय का परित्याग कर निर्भकता से अपना अधिकार हासिल करने के लिए प्रेरित करती है। समाज के पिछड़े. उपेक्षित, महिलाओं और बच्चों पर खासतौर से ध्यान देते हुए यह संस्था इस दिशा में लगातार आगे बढ़ रही है।

 

यह संस्था गुजरात, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ, महाराष्ट्र, गोवा, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ, झारकण्ड, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उत्तराखण्ड जैसे देश के प्रमुख राज्यों के महानगरों से लेकर गॉव एणं कस्बों मे इस विषय पर शिविर लगाकर परिचर्चा सेमिनार तथा वाद-विवाद जैसे कई कार्यक्रमो का सफल आयोजन करने के बाद अपने कारवां के साथ आज एक बार फिर से आप लोगों के बीच मौजुद है।

Print Friendly, PDF & Email